GK Quiz
Intezar Shayari, Waiting Quotes, Intezar Shayari in Hindi, Intezar Shayari Images
Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,
सब कुछ भुला के उनका इंतजार किया,
वो जान ही न पाए जज्बात मेरे,
मैंने सबसे ज्यादा जिन्हें प्यार किया..

Jhuki Hui Palkon Se Unka Deedaar Kiya,
Sab Kuchh Bhula Ke Unka Inezaar Kiya
Wo Jaan Hi Na Paye Jajbaat Mere,
Maine Sabse Jyada Jinhen Pyar Kiya..


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इन्तजार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूँढता है खामोशी से तुझे..

Kin Lafjon Mein Likhoon Main Apne Intezaar Ko Tumhen,
Bejuban Hai Ishq Mera Dhoondhta Hai Khamoshi Se Tujhe..


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

जीने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
जूठा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मानकर ऐतबार करते हैं..

Jeene Ki Khwaish Me Har Roz Marte Hain,
Wo Aaye Na Aaye Hum Intezaar Karte Hain,
Jutha Hi Sahi Mere Yaar Ka Vaada,
Hum Sach Maankar Aitbar Karte Hain.


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

फरियाद कर रही है यह तरसी हुई निगाह,
देखे हुए किसी को ज़माना गुजर गया..!!

Fariyad Kar Rahi Hai Ye Tarsi Huyi Nigaah,
Dekhe Huye Kisi Ko Zamana Gujar Gaya..

Please our BEST 2 LINE LOVE SHAYARI


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

वो तारों की तरह रात भर चमकते रहे,
हम चाँद से तन्हा सफ़र करते रहे,
वो तो बीते वक़्त थे उन्हें आना न था,
हम यूँ ही सारी रात करवट बदलते रहे..

Wo Taaro Ki Tarah Raat Bhar Chamkte Rahe,
Hum Chaand Se Tanha Safar Karte Rahe,
Wo To Beete Waqt The Unhein Aana Na Tha,
Hum Yoon Hi Saari Raat Karbat Badalte Rahe..


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

उल्फ़त के मारों से ना पूछो आलम इंतज़ार का,
पतझड़ सी है ज़िन्दगी और ख्याल है बहार का..!!

Ulfat Ke Maaron Se Na Poochho Aalam Intezar Ka,
Patjhad Si Hai Zindagi Aur Khayal Hai Bahaar Ka..


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

मुझको अब तुझ से मोहब्बत नहीं रही,
ऐ ज़िन्दगी तेरी भी मुझे ज़रूरत नहीं रही,
बुझ गये अब उसके इंतज़ार के वो दीये,
कहीं आस-पास भी उस की आहट नहीं रही..!!

Mujhko Ab Tujh Se Mohabbat Nahi Rahi,
Ai Zindagi Teri Bhi Mujhe Jaroorat Nahi Rahi,
Bujh Gaye Ab Uske Intezaar Ke Wo Deeye,
Kahin Aas-Paas Bhi Uski Aahat Nahi Rahi.


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

एक लम्हे के लिए मेरी नजरों के सामने आजा,
एक मुद्दत से मैंने खुद को आईने में नहीं देखा..!!

Ek Lamhe Ke Liye Meri Najron Ke Saamne Aaja,
Ek Muddat Se Maine Khud Ko Ayine Mein Nahi Dekha..


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

कब आ रहे हो मुलाकात के लिये,
हमने चाँद रोका है एक रात के लिये..!!

Kab Aa Rahe Ho Mulakat Ke Liye,
Humne Chaand Roka Hai Ek Raat Ke Liye..!!


Intezar Shayari in Hindi | Intezar Shayari

ज़ख़्म इतने गहरे हैं इज़हार क्या करें,
हम खुद निशाना बन गए वार क्या करें,
मर गए हम मगर खुली रही ये आँखें,
इससे ज्यादा उनका इंतज़ार क्या करें..

Jakhm Itne Gahare Hain Izhaar Kya Karen,
Hum Khud Nishana Ban Gaye Baar Kya Karen,
Mar Gaye Hum Magar Khuli Rahi Ye Aankhein,
Isse Jyada Unka Intezaar Kya Karen..

Continue Page 2

Follow us on Instagram , Facebook, Tumblr, Twitter,