Teri Tareef Shayari, Tareef Shayari in Hindi, Praise Shayari, Beauty Praise Quotes, Tareef Shayari images
Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

तेरे हुस्न को परदे कि जरुरत क्या है,
कौन रहता है होश में तुझे देखने के बाद..

Tere Hushn ko Parde ki kya jarurat hai,
Kaun rahata hai hosh mein Tujhe Dekhane ke baad..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

कुछ अपना अंदाज हैं, कुछ मौसम रंगीन हैं,
तारीफ करूँ या चुप रहूँ ,जुर्म दोनो ही संगीन हैं..!!

Kuch apna andaj hai,
Kuch mausam rangeen hai,
Taarif karu ya chup rahu,
Jurm dono hi sangeen hai..!


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

यह आईने क्या दे सकेंगे तुम्हें,
तुम्हारी शख्सियत की खबर,
कभी हमारी आंखों से आकर,
पूछो कितने लाजवाब हो तुम..

Yah aaine kya de sakenge Tumhe,
Tumhari Shakshiyat ki khabar,
Kabhi hamari Ankhon se Aakar,
Puchho kitane lajwab ho Tum..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

तेरे हुस्न को किसी परदे की जरूरत ही क्या है,
कौन रहता है होश में…
तुझे देखने के बाद..

Tere hushn ko kisi Parde ki jarurat hi kya hai,
Kaun rahata hai hosh mein..
Tujhe dekhane ke baad..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

हुस्न वाले तेरा जवाब नहीं,
कोई तुझ-सा नहीं हज़ारों में..

Hushnwale Tera Jawab nahin,
Koi Tujh sa nahin Hazaron mein..

Please also check out BEST COLLECTION OF HEART TOUCHING LOVE SHAYARI


हमने तो सिर्फ रेत में उँगलियाँ घुमाई थीं,
गौर से देखा तो आप की तस्वीर बन गई..

Hamne To Sirf Ret Me Ungaliyan Ghumayi Thi,
Gaur Se Dekha To Aap Ki Tasveer Ban Gayi….

उसके हुस्न की तारीफ़ में क्या कहिये,
कोई शहजादी जमीन पर उतर आई है,
ऐ बनाने वाले लगता है जैसे,
कोई संगमरमर की मूरत तूने बनाई है..

Usake hushn ki tareef mein kya kahiye,
Koi shahjadi Jameen par utar aai hai,
E Banane wale lagta hai jaise,
Koi Sangmarmar ki Moorat tune banai hai..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

ऐसी कोई तारीफ ही नहीं है,
जो तुम्हारी तारीफ कर सके..!!

Aisi koi Tareef hi nahin,
Jo Tumhari Tareef kar sake..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

मासूम सी सूरत तेरी,दिल में उतर जाती है,
भूल जाऊं कैसे मैं तुझे,तू मुझे हर जगह नजर आती है..

Masoom si Soorat teri,
Dil mein Utar Jati hai,
Bhool jaun kaise main tujhe,
Tu mujhe har jagah nazar jati hai..


देख कर तुमको यकीं होता है,
कोई इतना भी हसीं होता है,
देख पाते है कहाँ हम तुमको,
दिल कहीं, होश कहीं होता है..

Dekh kar Tumko Yakeen hota hai,
Koi itana bhi haseen hota hai,
Dekh pate hai kahan Ham Tumko,
Dil kaheen,Hosh kahin hota hai..

आँखों मे आँसुओं की लकीर बन गई,
जैसी चाहिए थी वैसी तकदीर बन गई..

Ankhon mein Ansuon ki lakeer ban gai,
Jaisi chahiye thi vaisi Takdeer ban gai..

इतना खूबसूरत कैसे मुस्कुरा लेते हो?
इतना क़ातिल कैसे शर्मा लेते हो?
कितनी आसानी से जान ले लेते हो..

Itana Khubsurat Kaise Muskura Lete Ho,
Itana Qatil Kaise Sharma Lete Ho,
Kitani Aasani Se Jaan Lete Ho….

किस किस से छुपाऊ तुम्हें मै अब तो,
तुम मेरी मुस्कुराहट मे भी नजर आने लगे हो..

Kis Kis se Chhupaon Tumhe main ab to,
Tum meri muskurahat mein bhi Nazar aane lage ho..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

मेरी निगाहें बार-बार आकर रुक जाती है,
उसके हुस्न-ए-दीदार से ना जाने,
क्यों ये थम जाती है..

Meri Nigahen baar-baar aakar ruk jati hai,
Usake Hushn-E-Deedar se na jane,
Kyon tham jati hai..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

अपना इक-इक वादा इस तरह निभाना है,
तुम को मेरे आँगन में चाँद बन के आना है,
इस कदर हसीं है तू खुद खबर नहीं तुझको,
तेरे हुस्न के आगे चाँद भी पुराना है..

Apna ik-ik wada is tarah nibhana hai,
Tum ko mere Angan mein Chand banke aana hai,
Is kadar haseen hai tu khud khabar nahi tujhko,
Tere hushn ke aage Chand bhi purana hai..


Teri Tareef Shayari | Tareef Shayari

ख्व़ाब बनकर तेरी आँखों में समाना है,
दवा बनकर तेरे हर दर्द को मिटाना है,
हासिल है मुझे जमाने भर की खुशियाँ,
मेरी हर ख़ुशी को बस तुझ पर लूटाना है..

Khwab banakar Teri Ankhon mein samana hai,
Dava banakar Tere har Dard ko mitana hai,
Hasil hai mujhe Jamane bhar ki khushiyan,
Meri har khushi ko bas tujh par lutana hai..


काटे नहीं कटते लम्हें इन्तजार के,
नजरें बिछाएं बैठे है रास्ते पे यार के,
दिल ने कहा देखे जो जलवे हुस्न-ए-यार के,
लाया है उन्हें कौन फलक से उतार के..

Kate nahi katte Lamhe Intezar ke,
Nazaren bichaye baithe hai raste Yaar ke,
Dil ne kaha dekhe jo jalve Hushn-E-Yaar ke,
Laya hai unhe Kaun Phalak se utar ke..

Follow us on Instagram , FacebookTumblrTwitter