Tere Jane Ke Baad, Do Line Love Shayari, Judaai Shayari, Dil Tut Gaya, Teri Yaad Shayari, Sad Love Shayari

tere jane ke baad
Tere Jane Ke Baad Hindi Shayari

वक्त दो ही बहुत तकलीफ के गुजरे हैं
सारी उम्र में,
एक तेरे आने से पहले एक तेरे जाने के
बाद..

Waqt do hi bahot takleef ke guzare hai,
Sari umra mein,
Ek tere aane se pehale,
Ek tere jane ke baad..

tumhari yaad shayari
Tumhari Yaad Shayari

सारी रात तुम्हारी याद में
खत लिखते रहे..
पर दर्द ही कुछ इतना था ,
असक बहते रहें और
अल्फाज मिटते गयें..

Sari raat tumahri yaad mein
khat likahte rahe,
Par dard hi kuchh itana tha,
Ashk bahate rahe aur,Alfaz mitate gaye..

Do line shayari
2 Line Hindi Love Shayari

यादों में तेरी आहे भरता हैं कोई,
हर साँस के साथ तुझे याद करता हैं कोई..

Yadon mein teri ahen bharata hai koi,
Har sans ke sath tujhe yaad karta hai koi..

yaad shayari in hindi
Yaad Shayari

तेरी याद को पसन्द आ गई है
मेरी आँखों की नमी,
हँसना भी चाहूँ तो रूला देती
है तेरी कमी..

Teri Yaad ko pasand aa gai hai
meri ankhon ki namee,
Hansana bhi chahata hun to rula deti
hai teri kami..

Please see our Most Popular Post पहला प्यार

tere jane ke baad shayari
Sad Love Shayari

कागज़ पे हमने ज़िन्दगी लिख दी,
अशकों से सींच कर खुशी लिख दी,
दर्द जब हमने उबारा लफज़ो पे,
लोगो ने कहा वाह क्या गज़ल लिख दी..

Kagaz pe hamne Zindagi likh di,
Ashakon se sinch kar khushi likh di,
Dard jab hamne ubara labzon pe,
Logo ne kaha wah kya ghazal likh di..

झूठ कहते हैं लोग कि मोहब्बत सब कुछ छीन लेती है,
मैंने तो मोहब्बत करके ग़म का खजाना पा लिया..

Juth kahate hai log ki mohobbat sab kuchh chhin leti hai,
Maine to mohobbat karke gam ka khazana pa liya..

adhoori mohobbat shayari
Sad Love Images

वक़्त गुज़रता रहा पर साँसे थमी सी थी,
मुस्कुरा रहे थे हम,
पर आँखो मे नमी सी थी,
साथ हमारे ये जहाँ था सारा,
पर ना जाने क्यू तुम्हारी कमी सी थी..

Waqt gujarata raha par sanse thsmi si thi,
Muskura rahe the ham,
Par ankhon mein nami si thi,
Sath hamare ye jahan tha sara,
Par na jane kyun tumhari kami si thi..

sad love images
Sad Love Images

मेरे चले जाने के बाद इस समंदर की
रेत भी तुमसे पूछा करेंगी…
कहाँ गया वो शख्स,
जो तनहाइयो में आकर बस तेरा नाम
लिखा करता था…

Mere chale jane ke baad is samandar ki
Ret bhi tumse poochha karegi,
Kahan gaya wo shaksh,
Jo tanhayon mein aakar bas tera naam
Likha karta tha..

milana bichhadana shayari
Milana Bichhadana Shayari

रिवाज़ तो यही है दुनिया का मिल
जाना बिछड़ जाना…
तुम से ये कैसा रिश्ता है….
ना मिलते,हो ना बिछड़ते हो..

Rivaz to yahi hai duniya ka mil jana bichhad jana,
Tum se ye kaisa rishta hai,na milte ho na bichhadate ho..

सरे राह जो उनसे नज़र मिली,
तो नक़्श दिल के उभर गए,
हम नज़र मिला कर झिझक गए,
वो नज़र झुका कर चले गए..

Sare raah jo unse nazar mili,
to naksha Dil ke ubhar gaye,
Ham nazar mila kar jhijhak gaye,
wo nazar jhuka kar chale gaye..

आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद,
आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह,
लाख ये चाहा कि उसे भूल जायेँ पर..
हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह..

Aaj tak hai uske laut aane ki umeed,
Aaj tak thahari hai zindagi apni jagah,
Lakh ye chaha ki use bhool jaye par,
Haunsale apni jagah bebasi apni jagah..

रात की तन्हाई मे अकेले थे हम,
दर्द की महफिलों मे रो रहे थे हम,
आप हमारे भले ही कुछ नही लगते,
पर फिर भी आपके बिना बिलकूल अधूरे है हम..

Raat ki tanhai mein akele the ham,
Dard ki mehafilon mein ro rahe the ham,
Aap hamare bhale hi kuchh nahi lagte,
Par phir bhi apke bina bilkul adhure hai ham..

khwab shayari
Khwab Shayari

नींद आँखों में नहीं,ख़्वाब खो गए,
तन्हा ही थे, कुछ तेरे बिन हम हो गए,
दिल कुछ तड़प उठा, ज़ुबान भी लड़खड़ाई,
तेरी याद में दो आँसू चुपके से बह गए..

Nind ankhon mein nahi,Khwab kho gaye,
Tanha hi the,Kuchh tere bin ham ho gaye,
Dil kuchh tadap utha,Zuban bhi ladkhadai,
Teri Yaad mein do ansu chupake se bah gaye..

उदास आँखों में करार देखा है,
पहली बार उसे इतना खुश और बेक़रार देखा है,
जिसे खबर ना होती थी मेरे आने जाने की,
उसकी आँखों में अब इंतज़ार देखा है..

Udas ankhon mein karar dekha hai,
Pehali bar use itana khush aur bekarar dekha hai,
Jise khabar na hoti thi mere aane jane ki,
Uski ankhon mein ab intezar dekha hai..

दर्द कितने हैं बता नहीं सकता,
जख्म कितने हैं दिखा नहीं सकता,
आँखों से समझ सको तो समझ लो,
आँसु गिरे हैं, कितने गिना नहीं सकता..

Dard kitane hai bata nahi sakta,
Zakhm kitane diye hai,Dikha nahi sakta,
Ankhon mein samajh sako to samajh lo,
Ansu gire hai kitane gina nahi sakata..

जिनके दिल पे लगती है चोट
वो आँखों से नही रोते
जो अपनो के ना हुए, किसी के नही होते,
मेरे हालातों ने मुझे ये सिखाया है,
की सपने टूट जाते हैं
पर पूरे नही होते..

Jinke Dil pe lagati hai chot,
Wo ankhon se nahi rote,
Jo apno ke na hue,Kisi ke nahi hote,
Mere halaton ne mujhe ye sikhaya hai,
ki sapane toot jate hai,Par pure nahi hote..

तुम आओ कभी दस्तक तो दो दर-ए-दिल पर,
प्यार पहले से कम हो तो सज़ा-ए-मौत दे देना..

Tum aao kabhi dastak to do dard-e-dil par,
Pyar pehale se kam ho to saja-e-maut de dena..

मुझे उससे कोई शिकायत ही नहीं,
शायद हमारी किसमत में चाहत ही नहीं,
मेरी तकदीर को लिखकर खुदा भी मुकर गया,
पूछा तो बोला ये मेरी लिखावट ही नही..

Mujhe us se koi shikayat hi nahi,
Shayad hamari kismat mein chahat nahi,
Meri takdeer ko likhkar khuda bhi mukar gaya,
Poochha to bola ye meri likhavat nahi..

muskurahat shayari
Muskurahat Shayari

बस इतना सा असर होगा हमारी यादों का,
कि कभी कभी तुम बिना बात मुस्कुराओगे..

Bas itana sa asar hoga hamari yaadon ka,
Ki kabhi tum bina baat muskuraoge..

बडा ही खामोश सा अंदाज है तेरा …
समझ नहीं आता,
फिदा हो जाऊँ या फनाह हो जाऊँ..

Bada hi khamosh sa andaz hai tera,
Samajh nahi pata,
Fida ho jaun,Ya Fanah ho jaun..

पलकों को जब-जब हमने झुकाया है,
बस एक ही ख्याल आया है..
कि जिस खुदा ने तुम्हें बनाया है,
तुम्हें ‘धरती’ पर भेजकर वो कैसे जी पाया है..

Palkon ko jab-jab hamane jhukaya hai,
Bas ek hi khayal aaya hai,
Ki jis khuda ne tumhe banaya hai,
Tumhe dharati par bhejakar wo kaise ji paya hai..

अंदाज़-ए-प्यार आपकी एक अदा है,
दुर हो हमसे ये आपकी ख़ता है,
दिल मेँ बसी एक प्यारी सी तस्वीऱ आपकी है,
जिस के निचेँ “आई मिस यूं” लिख़ा है..

Andaz-E-Pyar apki ek ada hai,
Dur ho hamse ye apki khata hai,
Dil mein basi ek pyari si tasveer apki hai
Jis ke niche “I Miss You” Likha hai..

तेरे चर्चों की क्या तारीफ़ करूँ ,
कुछ कहते हुए भी डरती हूँ..
कहीं भूल से तू ना समझ बैठे..
की मैं तुझसे मोहब्बत करती हूँ..

Tere charche ki kya tareef karun,
Kuchh kahte hue bhi darti hun,
Kahin bhool se tu na samajh baithe
ki main tujh se mohobbat karta hun..

पहले भी तेरे सिवा कोई नही दिखता था,
आज भी तेरे सिवा कोई नही दिखता,
बहुत खूबसूरत शहर है ये जहाँ मै हूँ,
मगर सुकून तेरे बिना कहीं नही मिलता…

Pahale bhi tere siva koi nahi dikhata tha,
Aaj bhi tere siva koi nahi dikhata,
Bahot khoobsurat shahar hai ye jahan mein hun,
Magar sukun tere bina kahin nahi milta..

तेरे इश्क़ के हाथो अब इतना मज़बूर हो गया हूँ
करके बेवफाई जमाने से फिर भी बे कसूर हो गया हूँ
लोग कहते है कि इश्क़ बड़ा ही बे-रहम होता है,
पर मेरे लिए तो वो कोईं खुदाई नूर सा होता है..

Tere ishq ke hathon ab itana majboor ho gaya hun,
Karke bewafai jamane se phir bhi bekasoor ho gaya hun,
Log kahate hai ki ishq bada hi beraham hota hai,
Par mere liye to wo koi khudai noor sa lagta hai..

होठों पर मोहब्बत के फ़साने नहीं आते,
साहिल पर समंदर के खजाने नहीं आते,
पलकें भी चमक उठती हैं सोते हुए हमारी,
आँखों को अभी ख्वाब छुपाने नहीं आते..

Hothon par Mohobbat ke fasane nahi aate,
Sahil par samandar ke khajane nahi aate,
Palken bhi chamak uthati hai sote hue hamari,
Ankhon ko abhi khwab chhoopane nahi aate..

समंदर से भी गहरी है, मेरे यार की आँखें
नदियों से भी लहरी है,मेरे दिलदार की आँखे
खो जाता हूँ इन नैन में,जो फूल सी सुन्दर है
मेरे प्यार की आँखे..
कभी उठता हूँ, कभी गिरता हूँ..
जाम से भी नशीली है,
मेरे जाने बहार की आँखे..
जल जाता हूँ इन बहारों में,ज्वाला मुखी से भी तेज़ है,
मेरे दिलबहार की आँखे..
डूब जाता हूँ इन नज़रों मैं,
ऐसी है मेरे तलबदार की आँखे..

Samandar se bhi gahari hai,Mere Yaar ki Akhe,
Nadiyon se bhi lahari hai,Mere Dildar ki Ankhen,
Kho jata hun is nain mein,Jo phool si sundar hai,
Mere Pyar ki Ankhen..
Kabhi uthata hun,Kabhi girta hun,
Jaam se bhi nashili hai,
Mere jane bahar ki ankhen..
Jal jata hun in baharon mein,Jwala mukhi se bhi tej hai,
Mere Dil bahar ki ankhen..
Dub jata hun in Nazaron mein,
Aisi hai mere talabdar ki ankhen..

Follow us on Instagram , FacebookTumblrTwitter