GK Quiz

Yaadon ki Khushbu, Teri Yaad Aayi, Yaad Shayari

yaadon ki khushbu

खुशबु तेरी मूज़े महका जाती है
तेरी हर बात मूज़े बहका जाती है
सांस को बहुत देर लगती है आने में
हर सांस से पहले तेरी याद आ जाती है..

Khushbu teri mujhe mahaka jati hai,
Teri har baat mujhe bahaka jati hai,
Sans ko bahot der lagti hai ane mein,
Har sans se pehale teri yaad aa jati hai..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

वो ज़िंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नही,
वो मोहबत ही क्या जिसमे यादें नही,
वो यादें क्या जिसमे तुम नही,
और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नही..

Wo zindagi hi kya jisme mohobbat nahi,
Wo Mohobbat hi kya jisme yaaden nahi,
Wo yaaden kya jisme Tum nahi,
Aur wo Tum hi kya jiske saath ham nahi..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

में तो चिराग हू तेरे आशियाने का,
कभी ना कभी तो बुझ जाऊंगा,
आज शिकायत है तुझे मेरे उजाले से,
कल अँधेरे में बहुत याद आऊंगा..

Main to Chirag hu tere Ashiyane ka,
Kabhi na kabhi buz jaunga,
Aaj shikayat hai Tujhe mere ujale se,
Kal andhere mein bahot Yaad aunga..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

आईना देखोगे तो मेरी याद आएगी
साथ गुज़री वो मुलाकात याद आएगी
पल भर क लिए वक़्त ठहर जाएगा,
जब आपको मेरी कोई बात याद आएगी..

Aaina dekhoge to meri yaad ayegi,
Saath gujari wo mulakat yaad ayegi,
Pal bhar ke liye waqt thahar jayega,
Jab apko meri koi baat yaad ayegi.

वो दिन दिन नही..वो रात रात नही..
वो पल पल नही जिस पल आपकी बात नही..
आपकी यादो से मौत हमे अलग कर सके.
मौत की भी इतनी भी औकात नही..

Wo Din,Din nahi,Wo raat raat nahi,
Wo Pal pal nahi jis pal Apki baat nahi,
Apki Yaadon se maut hamen alag kar sake,
Maut ki bhi itani aukat nahi..

Please also see latest collection 2020 on Miss You Shayari

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

पलकों को कभी हमने भिगोए ही नहीं,
वो सोचते हैं की हम कभी रोये ही नहीं,
वो पूछते हैं कि ख्वाबो में किसे देखते हो?
और हम हैं की उनकी यादो में सोए ही नहीं..

Palkon ko kabhi hamne bhigoye nahi,
Wo sochate hai ki ham kabhi roye nahi,
Wo poochhate hai ki khwabon mein kise dekhate ho,
Aur ham hai ki unaki yaadon mein soye hi nahi..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

क्यो किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते है अपने भी प्यारे,
और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है..

Kyon kisi se itana pyar ho jata hai,
Ek pal ka Intezar bhi dushwar ho jata hai,
Lagne lagte hai Apne bhi Pyare,
Aur ek ajanabi par aitbaar ho jata hai..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

दिल के सागर मे लहरे उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
तुम ख्वाबो में आ कर यू तडपाया ना करो..

Dil ki sagar mein laharen uthaya na karo,
Khwab banakar nind churaya na karo,
Bahot chot lagti hai mere Dil ko,
Tum khwabon mein aakar yun tadpaya na karo..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

जी भर क देखू तुझे अगर गवारा हो .
बेताब मेरी नज़रे हो और चेहरा तुम्हारा हो .
जान की फिकर हो न जमाने की परवाह .
एक तेरा प्यार हो जो बस तुमारा हो..

Ji bhar ke dekhu tujhe agar gawara ho,
Betab meri nazare ho aur chehara tumhara ho,
Jaan ki fikar ho na jamane ki parwah,
Ek tera pyar ho jo bas tumhara ho..

आप को इस दिल में उतार लेने को जी चाहता है,
खूबसूरत से फूलो में डूब जाने को जी चाहता है,
आपका साथ पाकर हम भूल गए सब मैखाने,
क्योकि उन मैखानो में भी आपका ही चेहरा नज़र आता है…

Aap ko is Dil mein utar lene ko ji chahata hai,
Khoobsurat se phoolon mein dub jane ko ji chahata hai,
Apka saath pakar ham bhool gaye sab maikhane,
Kyon ki un maikhano mein bhi Apka chehara nazar aata hai

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
खामोशियो की आदत हो गयी है,
न सीकवा रहा न शिकायत किसी से,
अगर है तो एक मोहब्बत,
जो इन तन्हाइयों से हो गई है..

Intezar ki Arzoo aab kho gayi hai,
Khamoshiyon ki aadat ho gayi hai,
Na sikwa raha na shikayat kisi se,
Agar hai to ek Mohobbat,
Jo in Tanhayon se ho gayi hai..

Yaadon Ki Khushbu | Yaad Shayari

पत्थर की दुनिया जज़्बात नही समझती,
दिल में क्या है वो बात नही समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नही समझती…

Patthar ki Duniya zazbat nahi samajhati,
Dil mein kya hai wo baat nahi samajhati,
Tanha to Chand bhi sitaron ke bich mein hai,
Par chand ka Dard wo raat nahi samajhati..

ख्वाइस तो यही है कि तेरे बाँहों में पनाह मिल जाये,
शमा खामोस हो जाये और शाम ढल जाये,
प्यार इतना करे कि इतिहास बन जाये,
और तुम्हारी बाँहों से हटने से पहले शाम हो जाये..

Khwaish to yahi hai ki teri bahon mein panah mil jaye,
Shama khamosh ho jaye aur sham dhal jaye,
Pyar itana kare ki itihas ban jaye,
Aur tumhari bahon se hatne se pehale sham ho jaye..

बहुत खूब सूरत है आखै तुम्हारी
इन्हें बना दो किस्मत हमारी
हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ
अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी..

Bahot khoobsurat hai Anken Tumhari,
Inhe banado kismat hamari,
Hamen nahi chahiye zamane ki khushiyan,
Agar mil jaye Mohobbat tumhari.

एक सच्चा दिल सब के पास होता हैं,
फिर क्यों नहीं सब पे विश्वास होता हैं,
इंसान चाहे कितनो भी आम हो..
वो किसी न किसी के लिए जरुर खास होता हैं..

Ek saccha Dil sab ke paas hota hai,
Phir kyon nahi sab pe vishwas hota hai,
Insaan chahe kitana bhi aam ho,
Wo kisi na kisi ke liye jarur khas hota hai..

Follow us on Instagram , FacebookTumblrTwitter