Chand Shayari, Hindi Shayari on Chand, Chand Romantic Shayari,Chand Couple Shayari, Chand Images
Chand Shayari | Chand Shayari

तू चाँद और मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशियाना हमारा होता,
लोग तुम्हे दूर से देखते,नज़दीक़ से देखने का,
हक़ बस हमारा होता..!!

Tu Chaand Aur Main Sitaara Hota,
Aasmaan Mein Ek Aashiyana Hamara Hota,
Log Tumhe Dur Se Dekhte, Nazdeek Se Dekhne Ka,
Haq Bas Hamara Hota..


Chand Shayari | Chand Shayari

पत्थर की दुनिया जज़्बात नही समझती,
दिल में क्या है वो बात नही समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारो के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नही समझती..

Patthar ki Duniiya Zazbaat nahi samajhati,
Dil mein kya hai wo baat nahi samajhati,
Tanha to Chand bhi Sitaron ke bich mein hai,
Par Chand ka Dard wo Raat nahin samajhati..


Chand Shayari | Chand Shayari

नजर में आपकी नज़ारे रहेंगे,
पलकों पर चाँद सितारे रहेंगे,
बदल जाये तो बदले ये ज़माना,
हम तो हमेशा आपके दीवाने रहेंगे..

Nazar mein Apki Nazare rahenge,
Palkon par Chand Sitare rahenge,
Badal jaye to Badal jaye Zamana,
Ham to Hamesha Apke Deewane rahenge..


Chand Shayari | Chand Shayari

ऐ काश हमारी क़िस्मत में ऐसी भी
कोई शाम आ जाए,
एक चाँद फ़लक पर निकला हो
एक छत पर आ जाए…

Ae Kash Hamari Qismat Mein Aisi Bhi
Koi Sham Aa Jaye,
Ek Chaand Falak Par Nikla Ho
Ek Chhat Par Aa Jaye..


Chand Shayari | Chand Shayari

तस्वीर बना कर तेरी आसमान पे टांग आया हूँ ,
और लोग पूछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे है..

Tasveer Banakar Teri Aasman pe tang aaya hun,
Aur Log puchhahte hai Aaj Chand itana bedaag kaise hai..


Chand Shayari | Chand Shayari

कितना हसीन चाँद सा चेहरा है,
उसपे शबाब का रंग गहरा है,
खुदा को यकीन न था वफ़ा पे,
तभी चाँद पे तारों का पहरा है..

Kitna Hasin Chand Sa Chehra Hai,
Uspe Shabab Ka Rang Gehra Hai,
Khuda Ko Yakeen Na Tha Wafa Pe,
Tabhi Chand Pe Taaro Ka Pehra Hai..


Chand Shayari | Chand Shayari

एक अदा आपकी दिल चुराने की,
एक अदा आपकी दिल में बस जाने की,
चेहरा आपका चाँद सा और एक…
हसरत हमारी उस चाँद को पाने की..

Ek Ada Aapki Dil Churane Ki,
Ek Ada Aapki Dil Mein Bas Jane Ki,
Chehra Aapka Chaand Sa Aur Ek…
Hasrat Hamari Us Chaand Ko Pane Ki..


Chand Shayari | Chand Shayari

ना चाँद चाहिए ना फलक चाहिए,
मुझे बस तेरी की एक झलक चाहिए…

Naa Chand Chahiye Naa Falak Chahiye,
Mujhe To Bas Teri Ek Jhalak Chahiye..


Chand Shayari | Chand Shayari

है चाँद सितारों में चमक तेरे प्यार की,
हर फूल से आती है महक तेरे प्यार की..

Hai Chand Sitaron mein Chamak tere Pyar ki,
Har Phool se aati hai Mahak Tere Pyar ki..


Chand Shayari | Chand Shayari

चाँद मत मांग मेरे चाँद जमीं पर रहकर,
खुद को पहचान मेरी जान खुदी में रहकर.

Chand mat mang mere Chand Zameen par rehakar,
Khud ko Pehchan meri jaan khudi mein rehakar..

Continue Page 2

Follow us on Instagram and Facebook