GK Quiz
Chand Raat Shayari, Chand ka tukda ho tum, Chand Shayari 2 line, Chand Si Mehbooba Shayari
Chand Raat Shayari | Chand Shayari

जो जागते है रात भर,
तुम उनका सवेरा क्या जानो,
तुम चाँद हो पूनम का,
क्या होता है अँधेरा क्या जानो..

Jo Jaagte Hai Raat Bhar,
Tum Unka Sawera Kya Jaano,
Tum Chaand Ho Poonam Ka,
Kya Hota Hai Andhera Kya Jaano..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

न चाँद चाहिए न फलक चाहिए,
मुझे तो तेरी बस एक झलक चाहिए..

Naa Chand Chahiye Naa Falak Chahiye,
Mujhe To Bas Teri Ek Jhalak Chahiye..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

कितना भी करले चाँद से इश्क़,
रात के मुकदर में,
अंधारियें ही लिखे है..

Kitna Bhi Kar Le, Chand Se Ishk,
Raat Ke Mukaddar Me,
Andhiyaren Hi Likhe Hain..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

ऐ सनम जिसने तुझे,चाँद सी सूरत दी है,
उसी मालिक ने मुझे, भी तो मोहोब्बत दी है..

Ye Sanam Jisne Tujhe
Chand Si Surat Di Hai,
Us Hi Malik Ne Mujhe.
Bhi To Mohabbat Di Hain..

Please check out BEST I LOVE YOU SHAYARI


खूबसूरत ग़ज़ल जैसा है,
तेरा चाँद सा चेहरा,
निगाहें शेर पढ़ती है,
तो लब इरशाद करते है..

Khubsurat Gazal Jaisa Hain,
Tera Chand Sa Chehra,
Nigaahe Sher Padhti Hain,
To Lab Irshad Karte Hain…


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

चाँद तारों की कसम खाता हूँ,
मैं बहारों की कसम खाता हूँ,
कोई आप जैसा नज़र नहीं आया,
मैं नज़ारों की कसम खाता हूँ ..

Chand Taaron Ki Kasam Khata Hu,
Main Baharon Ki Kasam Khata Hu,
Koi Aap Jaisa Nazar Nahi Aaya,
Mai Nazaaron Ki Kasam Khata Hu..


मोहोब्बत थी चाँद अच्छा था,
उतर गयी तो दाग दिखने लगा ..

Mohabbat Thi To Chand Achchha Tha,
Utar Gayi To Daag Dikhne Lage..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

तुम आ गये हो तो फिर चाँदनी सी बातें हों,
ज़मीं पे चाँद कहाँ रोज़ रोज़ उतरता है…

Tum aa gaye to phir chandani si batein ho,
Jameen pe Chand kahan roz roz utarata hai..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

इन आँखों को जब तेरे चाँद जैसे चेहरे का,
दीदार हो जाता है,
सच कहू ,वो दिन कोई सा भी हो,
लेकिन त्यौहार हो जाता है…

In Ankho Ko Jab Tere Chand Jaise Chaihare Ka,
Deedar Ho Jata Hain,
Sach Kahu, Wo Din Koi Sa Bhi,
Ho Tyauhaar Ho Jata Hain..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

चाँद से प्यारी चादनी,
चादनी से प्यारी रात,
रात से प्यारी ज़िन्दगी,
ज़िन्दगी से प्यारे आप …

Chand Se Pyari Chandini,
Chandini Se Pyari Raat,
Raat Se Pyari Zindagee,
Zindagee Se Pyare Aap…


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

ये दिल न जाने क्या कर बैठा,
मुझसे बिना पूछे ही फैसला कर बैठा,
इस ज़मीन पर टूटा सितारा भी नहीं गिरता,
और ये पागल चाँद से मोहब्बत कर बैठा..

Ye Dil Naa Jaane Kya Kar Baitha,
Mujhase Bina Puchhe Hi Faisala Kar Baitha,
Is Zamin Par Tuta Hua Sitara Bhi Nhai Geerata,
Aur Ye Chand Se Mohabbat Kar Baitha..


Chand Raat Shayari | Chand Shayari

आज भीगी है पलकें तेरी याद में,
अश्क भी सिमट गए अपने आप में,
आंसू के बून्द ऐसे गिरे ज़मीन पर,
मानो चाँद भी रोया है तेरी याद में..

Aaj bheegi hen palaken teri yaad mein,
Akash bhi simat gaya apane aap mein,
Ansu ke boond aise gire zameen par,
Mano chand bhi roya hai teri yaad mein..


चाँद तो अपनी चाँदनी को ही निहारता है,
उसे कहाँ खबर कोई चकोर प्यासा रह जाता है…

Chand Apani Chadani Ko Hi Niharata Hain,
Use Kaha Pata Koi Chakor Pyasa Rah Jata Hain..


चाँद की तरह ही खिले तेरी मुस्कान,
तारो की तरह सजे तेरे अरमान,
तू उदास ना हो कभी,
तेरी जिंदगी में खुशियाँ हो सभी..

Chand ki tarah hi khile teri muskan,
Taron ki tarah saje tere Armaan,
Tu udas na ho kabhi,
Teri Zindagi mein Khshiyan ho sabhi..


चाँद सा चेहरा देखने की इजाज़त दे दो मुझे,
ये शाम सजाने के इजाज़त दे दो मुझे,
क़ैद करलो अपने इश्क़ में या,
इश्क़ करने के इजाज़त दे दो मुझे..

Chand sa Chehara dekhane ki izazat de do mujhe,
Ye sham sajane ki izazat de do mujhe,
Kaid karlo apne ishk mein ya,
Ishq karne ke izazat de do mujhe..

Follow us on Instagram , FacebookTumblrTwitter